Close
  • +91-9814181255
  • helpline@medshopi.com

April 10, 2018

Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde | बाल और स्वास्थ्य के लिए आंवला के फायदे

आज हम आपको बतायेंगे Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde | आमला को औषधीय फल माना जाता है |आमला में अत्यधिक मात्रा में पानी होता है | यह कार्बोहाइड्रेट और फाइबर का बहुत अच्छा स्रोत है | इसमें विटामिन A, B, C और क भी पाया जाता है | इसमें मिनरल्स भी होते है जैसे :कैल्शियम, फॉस्फोरस , आयरन , कैरोटीन, एंटीऑक्सीडेन्ट्स| आमला बहुत सी बीमारियों का इलाज़ है | इसका इस्तेमाल आयुर्वेदिक उपचार के लिए भी किया जाता है | यह स्वास्थय और बालो के लिए बहुत उपयोगी होता है |

 

 

 

आईये जानते है स्वास्थ्य और बालो के लिए आमला कितना उपयोगी है | Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

 

    1. बालो को स्वस्थ बनाने में :

स्वास्थ्य के लिए आंवला के फायदे

आमला का इस्तेमाल बालो के लिए बहुत से उत्पादों में किया जाता है | इससें बाल जल्दी बढ़ते है और बालो का रंग बनाये रखने में मदद करता है | हलके उबले हुए दो आमला रोज खाए और आमला का पेस्ट बनाकर बालो में लगाने से बालो में चमक आएगी | यह बालो की जड़ो को मजबूत बनाता है और रूसी की समस्या को भी ख़तम करता है | आमला में भरपूर मात्रा में एंटीआक्सीडेन्ट्स और आयरन होता है | यह बालो का झड़ना कम करता है | सूखे आमला को तेल में पकाकर इसका तेल लगाने से बाल काले बनते है | आमला का चूर्ण मेहँदी में मिलाकर लगाने से बाल चमकदार और स्वस्थ बनते है |

 

   2. पाचन शक्ति बढाने में:

Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

आमला में फाइबर अधिक मात्रा में होता है | यह आंतो के कार्यो को नियमित रूप से बनाये रखता है | इससे भोजन पचने में आसानी होती है | आमला का जूस पीने से गैस व् कब्ज जैसी समस्या दूर होती है |पाचन क्रिया को स्वस्थ बनाने में : आंवला पाचन एंजाइम्स को सक्रिय रखता है | इससमे माल त्याग नियमित रहता है| आंवला में शीतल गुण होते है इससे दस्त में आराम मिलता है|

 

 

 

 

 

 

 

    3. त्वचा के लिए :

Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

आंवला प्राकर्तिक क्लेंसेर और ऐसट्रिनजेंट होता है| चेहरे पर आंवला और निम्बू का पेस्ट लगाने से त्वचा स्वस्थ बनती है| मुहासों को भी कम करता है, और रोम छिद्रों को बंद करता है| आंवला का जूस पीने से त्वचा का रंग साफ़ होता है| आंवला के एंटीबैक्टीरियल गुण से खून साफ़ होता है | यह त्वचा को अन्दर से निखरता है| आंवला पाऊडर का पेस्ट त्वचा पर लगाने से त्वचा से अतिरिक्त आयल साफ़ होता है | आंवला में विटामिन C बहुत होता है | यह शरीर से विषाक्त पदार्थो को बहार निकालता है , जिससे त्वचा से दाग धब्बे , और कालापन दूर होता है |यह त्वचा को किसी भी प्रकार के संक्रमण से बचाता है |

 

    4. एंटी-एजिंग:

Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

आंवला में भरपूर मात्रा में एंटीआक्सीडेन्ट्स होते है इसके सेवन से चेहरे की झुर्रिया कम होती है | आंवला से त्वचा स्वस्थ और चमकदार बनती है|

    5. आँखों के लिए :

Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

आंवला का जूस आँरोज पीने से आंखों की द्रष्टि को मजबूत बनती है| इससे मोतियाबिंद में सुधार आता है| इसमें बहुत से गुण होते है जो आँखों की माँश्पेशियो को मजबूत बनाते है |

    6. ह्रदय के लिए:

स्वास्थ्य के लिए आंवला के फायदे

आंवला कोलेस्ट्रोल को कम करता है | कोलेस्ट्रोल हार्ट अटैक का कारण बनता है| इसमें पाया जाने वाले आयरन से शरीर में हिमोग्लोबीन की मात्रा बढती है | यह रक्त कोशिकायो को साफ़ करके उनमे आक्सीजन का लेवल बढाता है | यह ह्रदय की रक्त कोशिकाओ को मजबूत बनाता है| शरीर में ह्रदय का रक्त संचार का कार्य सरल बनाता है |

 

    7. वजन कम करने में सहायक:

Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

आंवला का जूस पीने से प्रोटीन का स्तर बढ़ता है | जिससे वजन कम करने में आसानी होती है | यह शरीर से अतिरिक्त चर्बी को कम करने में सहायता करता है | रोज आंवला का जूस पीने से जल्दी वजन कम हो सकता है |

 

    8. मधुमेह के लिए:

आंवला का जूस हल्दी के साथ पीने से मधुमेह का खतरा कम हो जाता है | इसमें चीनी की मात्रा कम होती है और फाइबर की मात्र अधिक होती है | इसलिए यह मधुमेह के रोगियों के लिए अच्छा होता है | दिन में दो बार आंवला का जूस हल्दी के साथ लेने से मधुमेह का खतरा कम होता है | आंवला में एंटीआक्सीडेंट होते है जो शरीर में ग्लूकोस की मात्रा को नियंत्रित करते है| यह शरीर में इन्सुलिन के स्तर को बढाता है | जिससे मधुमेह नहीं होता |

 

   9. मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली:

Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

आंवला प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाता है | इसमें विटामिन C अधिक मात्रा में होता है, इससे शरीर में सफ़ेद रक्त कोशिकाओं को निर्माण होता है  | आंवला पाचन क्रिया को मजबूत बनाता है , यह शरीर को वायरल , बैक्टीरियल रोगों से बचाता है | सूजन से शरीर में होने वाले दर्द में आंवला आराम देता है |

   10. मासिक धर्म में :

आंवला का जूस नियमित पीने से मासिक धर्म का चक्र नियमित रहता है | मासिक धर्म में खून के अधिक बहाव और दर्द को कम करता है | यह गर्भाशय और प्रजनन क्रिया को स्वस्थ बनाता है | आंवला मासिक धर्म चक्र के दौरान सेवन से यह vaat दोष को संतुलित  करता है | यह दोष रक्त परिसंचरण को नियंत्रित करता है | यह पेट के निचले हिस्से में होता है |

 

   11. लीवर को स्वस्थ रखने में:Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

लीवर शरीर का महत्वपूर्ण अंग है | यह शरीर की सफाई करता है | आंवला लीवर को स्वस्थ बनाता है, जिससे लीवर के कार्य करने की क्षमता बढती है | यह शरीर से हानिकारक तत्वों को बहार निकलता है | इससे शरीर में किसी प्रकार का संक्रमण होने का खतरा नहीं रहता |

 

    12. कैन्सर की रोकथाम :

आंवला में भरपूर मात्रा में एंटीआक्सीडेन्ट्स होते है | यह शरीर कैंसर में रसायनों से होने वाले गलत प्रभावों को रोकता है, कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है | आंवला के नियमित सेवन से कैंसर को रोका जा सकता है | कीमोथेरेपी से होने वाले हानिकारक प्रभाव को कम करता है | आंवला मे के नियमित सेवन से शरीर में आक्सीजन की मात्रा बढती है | दो आंवला रोज खाने से कैन्सर कोशिकाये कम होगी और कैंसर को ख़त्म किया जा सकता है |

 

आंवला का सेवन करने के तरीके : Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

  1. सर्दियो में मौसम से लेकर मार्च तक मिलता है | आंवला के सेवन का सबसे अच्छा तरीका है आमला का जूस | आमला | अगर आमला का जूस पीने में परेशानी होती है तो आप इसमें समान मात्रा में पानी को मीला कर सुबह खाली पेट पी सकते है

Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

2. आमला को छोटे हिस्सों में काटकर कुछ दिन के लिए धुप में सुखाये | जब यह अच्छे से सुख जाए तब नमक के साथ इसको खाए

3. आंवला को हल्का उबालकर इसको धुप में सुखाये| जब इसका पूरा पानी सुख जाए इसका अचार या मुरब्बा डाल कर खा सकते है

4.   खाना खाने के बाद एक चम्मच आंवला का चूर्ण पानी के साथ लेने से ले सकते है| या चूर्ण को एक गिलास पानी में उबाल कर इसका             पानी पी सकते है| इससे  भूख बढ़ेगी , गैस, सर दर्द और आँखों की समस्या में आराम मिलेगा

5.  दो आमला रोज सुबह हल्का उबाल कर खाए इससे त्वचा में चमक आएगी

6. सूखे आंवला को नारियल तेल में पकाकर इसका तेल लगाने से बाल काले व् मजबूत बनेगे

7. आवंला का पीसते बनाकर सर में लगाए , इससे बाल चमकदार और स्वस्थ बनते है,Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

 

आमला का चूर्ण बनाने की विधि:Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde

  1. आंवला को अच्छे से धो ले और उबाल ले
  2. इसकी गुठलिया निकाल दे| इसको धुप में अच्छे से सुखाये
  3. कुछ देर आंवला को ठंडा होने के लिए छोड़े.
  4. इसके बाद आंवला के छोटे छोटे टुकड़े कर ले
  5. प्लास्टिक की साफ़ शीट पर आमला को धुप में डाल दे
  6. अच्छी तरह सूख जाने तक आंवला को सुखाये
  7. इसके बाद इसके इमाम दस्ता में इसको कूट ले
  8. अब आंवला के छोटे टुकडो को मिक्सी में बारीक पीस ले
  9. इसके बाद बारीक चली में आंवला के चूर्ण को चान ले
  10. छानने पर जो मोटा आंवला का पाऊदडर होगा उसका दोबारा पीस ले |
  11. चूर्ण को डब्बे में टाइट से बंद कर दे, जिससे उसमे हवा ना जाये
  12. अपनी सेहत के अनुसार आंवला का चूर्ण नियमित ले सकते है Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde.

 

आंवला चूर्ण के सुन्दरता और सेहत के लिए बहुत फायदे है Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde, लेकिन इसके सेवन करने में कुछ सावधानिया जरुरी है | शरीर के अनुसार इसको कितनी मात्रा में लेना है , और कब लेना है यह सब ध्यान रखना बहुत जरुरी है |

 

आईये जानते है आमला का सेवन करते समय किन बातो का ध्यान रखना चाहिए :

  1. ज्यादा मात्रा में आमला के सेवन से मल कठोर हो सकता है |
  2. सूखे आंवला या जूस के साथ पानी पर्याप्त मात्रा में पिए , इससे कब्ज नहीं होगा |
  3. अगर आप मधुमेह में मरीज़ है तो आमला का सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरुर ले
  4. जिन लोगो को गुर्दे सम्बन्धी या उच्च रक्तचाप की शिकायत है वो आमला का अचार ना खाए | आंवला में नमक होने से सोडियम की मात्रा से उच्च रक्त चाप और गुर्दे के मरीजो के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है |
  5. अधिक मात्रा में आमला के सेवन से त्वचा की नमी खो सकती है | यह मूत्रवर्धक होता है | इसलिए पानी पिए आंवला के सेवन के साथ |
  6. आंवला का अधिक मात्रा में सेवँन से सर की त्वचा रूखी हो सकती है| इससे बाल गिरते क्युकी त्वचा की नमी खो जाती है |
  7. सर्दी में सिर्फ कच्चा आंवला या आंवला का चूर्ण खाने से सर्दी , जुकाम हो सकता है , क्युकी यह प्राक्रतिक ठंडा और खट्टा होता है |
  8. अगर आपको आंवला से एलर्जी है तो इसका सेवन ना करे |
  9. ज्यादा मात्रा में आंवला का सेवन वजन घटने का कारण बन सकता है |
  10. जिन लोगो को ह्रदय सम्बन्धी समस्या है वो इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह ले | यह शक्तिशाली कार्डियोवैस्कुलर उत्तेजक एजेंट होता है |
  11. गर्भवती महिलाए आमला का सेवन में सावधानी रखे , इसके सेवन से दस्त व् अन्य पेट की समस्या हो सकती है |

 

हमने आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताया आमला के सेवन से Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde. और इसके सेवन में क्या सावधानी रखनी चाहिए |

 

आशा करते है आपको हमारा यह पोस्ट Baal aur swaasthay ke liye aamla ke fayde पसंद आया होगा |

 

ऐसी ही स्वास्थ्य सम्बन्धी और जानकारी पाने के लिए Medshopi Blog पर जाए |

 

धन्यवाद |

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *